Food Myths

खाने का नाम सुनते ही पहली चीज़ क्या आती है आपके दिमाग़ में? मेरे तो सबसे पहले मुँह में पानी आता है, फिर जो मैं खाने वाली हूँ वो खाना हेल्थी है या नही। खाने के लिए आपने अपने बड़ों से, दोस्तों से, घरवालों से सभी से काफ़ी fact सुने होंगे कि यह मत खाओ या यह खाना चाइए। तो सोचिए क्या आपको राय देने वाले सही है या जानिए की ऐसा वो क्यूँ कहते है। सोचिए?

• Myth 1 : कोई meal आपने स्किप कर दी, और इसके बदले आप अपनी अगली meal में कुछ भी खा सकते है। 

Fact: Meal स्किप करना एक बहुत ही गंदा ख़याल है। हर meal का अपना रोल हैं लाइफ़ में। इसका मतलब यह नही की आप कुछ भी और कितना भी खा लेंगे उसके बदले में।  3 normal साइज़ मील लेना बहुत ज़रूरी है और उससे बीच बीच में स्नैक्स और फल खाते रहना चाइए, जिससे शरीर को energy मिलती रहे।

• Myth 2: हम अपना खाना honey से कितना भी मीठा बना सकते है।  

Fact: देखा जाए तो हनी भी चीनी की तरह उतनी ही मीठी है, हनी में calories भी ज्यदा है चीनी से। मीठे का कम से कम प्रयोग कर्णक चाइए उसी तरह हनी भी कम use करे।

• Myth 3: Calories शरीर के लिए बेकार है। 

Fact: हमारे शरीर को कैलरीज़ की ज़रूरत है जीने के लिए, हाँ ज्यदा मात्रा में कैलरीज़ वज़न बढाता है, पर सही मात्रा में कैलरीज़ हमारे शरीर को पावर देता है पूरे दिन काम करने के लिए।

• Myth 4: Egg Yolk अन्हेल्थी है!

Fact: अंडे का सफ़द भाग ही प्रोटीन नही देता। एग योक भी प्रोटीन और विटामिन D देता है, और साथ ही fractures को और काफ़ी बीमारी दूर रखता है।

• Myth 5: Carbohydrates शरीर के लिए बेकार है। 

Fact: हमारे शरीर को carbohydrate की ज़रूरत है, अगर हम carbohydrate हेल्थी खाने से ले तो जैसे फल, सब्ज़ी से, नट्स, beans से। ये सब हमारे शरीर को सही मात्रा में carbohydrate देगा।

• Myth 6: सारा प्रोटीन एक ही मील में लेना। 

Fact: हर कोई इंशान प्रोटीन किसी ना किसी रूप में ले रहा है, पर ध्यान सारा प्रोटीन एक मील में ही नही लेना है। प्रोटीन आपको दूध, दही, beans, हरी सब्ज़ी से, चिकन, meat, फ़िश आदि से मिल सकता है। तो आपना ऐसे divide करे जिससे हर मील में प्रोटीन की सही मात्रा मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *