Navratri Vrat Recipe

नवरात्रि एक हिंदू पर्व है। नवरात्रि एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। दसवाँ दिन दशहरा के नाम से प्रसिद्ध है। नवरात्रि भारत के विभिन्न भागों में अलग ढंग से मनायी जाती है। देवी के सम्मान में भक्ति प्रदर्शन के रूप में गरबा, ‘आरती’ से पहले किया जाता है और डांडिया समारोह उसके बाद। पश्चिम बंगाल के राज्य में बंगालियों के मुख्य त्यौहारो में दुर्गा पूजा बंगाली कैलेंडर में, सबसे अलंकृत रूप में उभरा है। इस अदभुत उत्सव का जश्न नीचे दक्षिण, मैसूर के राजसी क्वार्टर को पूरे महीने प्रकाशित करके मनाया जाता है।

नवरात्रि पर व्रत रख जाता है। इस व्रत इन सामग्री का सेवन हो सकता है। कूटू की रोटी, उपवास के चावल, साबूदाना से बनाया व्यंजन, सिंघाड़ा का आटा आदि।

  1. कुटू की खिचड़ी (Kuttu ki khichdi)– आप ने व्रत में कुटू की पूरी और रोटी खाई होगी,पर आप ने कुटू की खिचड़ी नहीं खाई होगी। इसे आप नवरात्रि व्रत में खा सकते है। इसमें काफी मात्रा में फाइबर और प्रोटीन होता है, ये असानी से market में मिल जाता है।
  2. साबूदाने की खिचड़ी( Sabudana Khichdi Recipe)– साबूदाने की खिचड़ी ज़्यादातर व्रत के समय का खाना होता है, ये एक हल्का खाना होता है। अगर आपको साबूदाने की खिचड़ी अच्छी लगती हो तो आप नाश्ते मे भी खा सकते हो। बस व्रत के खाने मे सेंधा नमक डलता है।
  3. साबूदाना टिक्की (Sabudana Tikki Recipe)– साबूदाना ज़्यादातर व्रत के समय का खाना होता है, ये एक हल्का खाना होता है। बस व्रत के खाने मे सेंधा नमक डलता है। आप घर पर साबूदाना से टिक्की बना कर खा सकते है और इसे बनाने में टाइम भी कम लगता है। नार्थ इंडिया में टिक्की काफी पसंद की जाती है। घर की टिक्की सेफ भी होती है।
  4. कद्दू की सब्ज़ी (Kaddu ki Sabzi)– व्रत में आप काफ़ी कुछ बना सकती है। आज हम कद्दू की खट्टी मीठी सब्ज़ी बनाने वाले है। इसे बनाना काफ़ी आसान है, और स्वाद भी काफ़ी अच्छा होता है।
  5. सागाहारी थालीपीठ (Sagahari Thalipeeth) – व्रत करना हमारी सेहत के लिए अच्छा रहता है, हम व्रत करते ही रहते है। कुछ व्रत सागाहार से खुलते है। सागाहार में हम थालीपीठ बना सकते है।
  6. साबूदाना वड़ा (Sabudana Vada)– साबूदाना वड़ा बनाने में बहुत आसान और खाने में बहुत ही क्रिस्‍पी और टेस्‍टी होता है। लोग इसे व्रत में खाने के रुप में खाते है, हम इसे शाम के समय नाश्‍ते में भी खा सकते है।आज हम साबूदाना वड़ा बनाने वाले है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *